Sorry, you need to enable JavaScript to visit this website.
Search
Not a member? Register here
Share this Article
X
 Combating Morning Sickness

मॉर्निंग सिकनेस का मुकाबला करना

(0 reviews)

गर्भावस्था के दौरान सबसे आम समस्या जो सभी गर्भवती महिलाओं को प्रभावित करती है, वह है मॉर्निंग सिकनेस । आम तौर पर यह गर्भधारण के चौथे और 6 वें सप्ताह के बीच शुरू होती है और 14वेंसे 16वेंसप्ताह तक रहती है। कुछ महिलाएं अपनी पूरी गर्भावस्था के दौरान मॉर्निंग मार्निंग सिकनेस का अनुभव कर सकती हैं। इसमें हल्की मतली या उल्टी होती है।

Tuesday, November 28th, 2017

यह क्यों होती है?

बड़ी हद तक मॉर्निंग सिकनेस शरीर के अंदर होने वाले कठोर हार्मोनल परिवर्तनों के कारण होती है। हालांकि, एक वास्तविक कारण अभी तक स्थापित किया जाना बाकी है।गर्भावस्था में मतली और उल्टी के संभावित कारणों में से कुछ मुख्यतः हार्मोनल स्राव से संबंधित हैं।

एचसीजी हार्मोन मतली का कारण बनता है: गर्भावस्था के दौरान ह्युमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन (एचसीजी) हार्मोन की एक उच्च मात्रा प्रणाली में जारी होती है। यह मादा के अंडाणु को एस्ट्रोजेन का स्राव करने के लिए उत्तेजित करता है, जो बदले में मतली का कारण बनता है।

प्रोजेस्टेरोन मांसपेशियों को शिथिल करता है: गर्भावस्था के दौरान प्रोजेस्टेरोन के स्तर में वृद्धि से बच्चों के विकास और जन्म की सुविधा के लिए गर्भाशय की मांसपेशियां शिथिल हो जाती है। हालांकि, यह पेट और आंत की मांसपेशियों को भी शिथिल कर सकता है, जिससे गैस्ट्रो एसिफेगल रिफ्लेकक्स (पेट में अम्ल के विघटित होने के कारण सीने में जलन) होती है। रक्त शर्करा का निम्न स्तर (हाइपोग्लाइसीमिया) जो ऊर्जा की गर्भनाल द्वारा निकासी के कारण होता है, को भी मतली के संभावित कारण के रूप में देखा जाता है, हालांकि इसकी अभी तक पुष्टि नहीं हुई है।

अतिसंवेदनशील गंध संवेदना: यह अनेक गर्भवती महिलाओं द्वारा सबसे अधिक अनुभव की जाने वाली आम बेचैनियों में से एक है। गंध की बढ़ी संवेदनशीलता पाचन तंत्र को उत्तेजित कर सकती है और यह गैस्ट्रिक अम्ल के स्राव को उत्प्रेरित कर सकता है जिससे मतली भी उत्पन्न हो सकती है।

बिलीरुबिन का बढ़ता स्तरः बिलीरुबिन (यकृत में पाया जाने वाला एंजाइम) के स्तर में वृद्धि भी मतली का कारण हो सकती है।

आप इसे कैसे रोक सकती हैं?

सभी उपायों का उद्देश्य मतली के लक्षणों को कुछ हद तक कम करना है।

कार्बोहाइड्रेट समृद्ध स्नैक्स: आपको सुबह में बिस्कुट, टोस्ट आदि जैसे कार्बोहाइड्रेट समृद्ध स्नैक्स खाना चाहिए।थोड़ी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट समृद्ध स्नैक्स - फलों और सब्जियां जो पानी की सामग्री में उच्च होती हैं, जैसे टमाटर, अंगूर, तरबूज, पालक, और लेटिष खाना भी सहायक होता है। मिश्रण में नींबू और अदरक को शामिल करें इससे आगे और भी मदद मिलती है।

खाली पेट होने से बचें: यह गैस्ट्रिक के रस के स्तर के बढ़ने की वजह बनता है और मतली पैदा हो सकती है। यदि मतली अधिक है, तो उन खाद्य पदार्थों से बचें जो वसा में समृद्ध हैं और साथ ही अधिक पकाए हुए और सुगन्धित भोजन से भी बचें।

तरल पदार्थों का सेवन बढ़ाएं: चूंकि उल्टी आपके शरीर के द्रव के स्तर में कमी की ओर बढ़ती है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप अधिक मात्रा में पानी के साथ-साथ ताजे फल और सब्जियों के रस, छाछ, और नारियल पानी जैसे तरल पदार्थों से स्थिति को संतुलित कर लें।

यदि आपकी उल्टी लंबे समय तक नियंत्रण से बाहर रहती है, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें। लेकिन याद रखें, चिंता करने की कोई बात नहीं है। यह गर्भावस्था के दौरान दिखने वाले सबसे आम लक्षणों में से एक है और लगभग 50-70% गर्भवती महिलाएं इस चरण से गुजरती हैं।

English | Tamil | Hindi | Telugu | Bengali | Marathi

Read more

Join My First 1000 Days Club

It all starts here. Expert nutrition advice for you and your baby along the first 1000 days.

  • Learn about nutrition at your own paceLearn about nutrition at your own pace
  • toolTry our tailored practical tools
  • Enjoy member only benefits and offersEnjoy member only benefits

Let's start this!

Related Content
Article Reviews

0 reviews

Still haven't found
what you are looking for?

Try our new smart question engine. We'll always have something for you.